सफलता की कहानियां

नेफ्रोलॉजी सफलता की कहानी

रेणु प्रत्यारोपण के बाद श्री महतो जीवन प्राप्त कर रहे हैं

श्री भंडू महतो, मैगनपुर के 48 वर्षीय पुरुष निवासी, गोला, रामगढ़, क्रोनिक किडनी रोग से पीड़ित थे। द्विपक्षीय ureteric और गुर्दे की पथरी की बीमारियों के कारण बी / एल के बड़े पेल्विक्लेसील प्रणाली फैलाव के कारण रेनियल पैरेन्काइमा को पिटाया गया था, उन्हें सप्ताह में दो बार रखरखाव हेमोडायलिसिस कार्यक्रम पर रखा गया था। दो साल पहले जब वह अस्पताल पहुंचे थे तो वह यूरोसपेसिस और उन्नत यूरियामिया से पीड़ित था। गुर्दे की पथरी की बीमारी के लिए उनका चयापचय संबंधी प्रोफ़ाइल सामान्य था और उस समय वह यूरोस्पिसिस के कई एपिसोड थे, जबकि वह हेमोडायलिसिस पर था। उसके परिवार ने सोचा कि प्रत्यारोपण उनके लिए सबसे अच्छा विकल्प था, हालांकि पूर्व प्रत्यारोपण अवधि के दौरान वह गंभीर कुपोषण से पीड़ित था।

उसके बाद वह यूआरोलॉजी टीम द्वारा ट्रांसपेरिएटोनियल दृष्टिकोण के माध्यम से एकल मिडलाइन चीरा द्वारा द्विपक्षीय नेफरेक्टोमी करवाया गया और इसके बाद कोई ऑपरेटिव जटिलताएं नहीं थीं। श्री महतो को 8 वीं पोस्ट-ऑपरेटिव डे पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी।

छह सप्ताह बाद, एक सफल गुर्दे प्रत्यारोपण किया गया था और उनकी पत्नी दाता थी। प्रत्यारोपण के बाद की अवधि अनभिज्ञ थी और अब प्रत्यारोपण के तीन महीने बाद उनकी गुर्दा संबंधी जानकारी सामान्य है और श्री महतो धीरे-धीरे अपने सामान्य जीवन में वापस आ रहे हैं।

ऊपर जाएँ

Request and Appoinment

Doctors Available View Details

Hospital Location
  • धरती पर भगवान का रूप डॉक्टर सुना था लेकिन डॉक्टर प्रभात कुमार जी से मिलने पर विश्वास भी हो गया !!

    अरमान खान
  • बचपन में सुनी हुई बात कि डाक्टर भगवान का दूसरा रूप होता है, जो समय के अनुसार मानस पटल से मिट चुका था, डा० प्रभात कुमार से मिलने के पश्चात वह विश्वास पुनः एक बार दृढ़ हो गया। उनके व्यक्तित्व के बारे में कुछ लिखने के लिए मैं अपने को बहुत छोटा समझता हूँ और ऐसे भी उनकी तारीफ में कुछ लिखना सूरज को दिया दिखाने समान है। भगवान की तारीफ में कुछ लिखा नहीं जा सकता। अभी मैं जो जीवन जी रहा हूँ उनका ही दिया हुआ है।
    इसके साथ ही डा० प्रभात सर के टीम के सभी डाक्टरों ने मेरे हृदय में काफी उच्च स्थान बनाया है और उन सभी के प्रति काफी आदर का भाव लेकर लौटा हूँ।

    अरुण कुमार सिन्हा
  • मेडिका में तीन रातों रहने के बाद यह एक उत्कृष्ट अनुभव था। यदि आवश्यक हो तो मैं इस अस्पताल का दौरा करूँगा और दूसरों को भी देखेंगे

    श्री एस मजूमदार
  • सभी कर्मचारी बहुत सहकारी हैं देखभाल, शान्ति का एक घर – भावना की तरह घर। धन्यवाद मेडिका

    सुश्री चौधरी
  • अस्पताल के पूरे प्रबंधन और कर्मचारी मेहनत कर रहे हैं। कीप आईटी उप

    श्री दुरु
  • सभी स्टाफ सदस्य बहुत अच्छे और मैत्रीपूर्ण हैं

    श्री एस सेठी
  • मैं कोल इंडिया लिमिटेड के एक सेवानिवृत्त कर्मचारी हूं। मेरी कंपनी ने पूरे अस्पताल में अस्पताल और अन्य अस्पतालों के साथ करार किया है। लेकिन मैंने मेडिका को चुना है क्योंकि आपकी सेवा अच्छी है

    सुश्री एस डॉन